Home लोक साहित्य एवं संस्कृति पूर्वोत्तर भारत मिजोरम और मणिपुर की थडोऊ जनजाति (Thadou Tribe)

मिजोरम और मणिपुर की थडोऊ जनजाति (Thadou Tribe)

मिजोरम और मणिपुर की थडोऊ जनजाति (Thadou Tribe)

मिजोरम और मणिपुर की थडोऊ जनजाति (Thadou Tribe)

थडोऊ मिजोरम की एक महत्वपूर्ण जनजाति है I मणिपुर में भी इनकी अच्छी खासी आबादी निवास करती है I इसे ‘थाडो’ भी कहा जाता है I वेलोग ‘चोंगथु’ को अपना पूर्वज मानते हैं I इनका विश्वास है कि इनके आदि पुरुष ‘चोंगथु’ पृथ्वी के गर्भ से निकले थे I थडोऊ समुदाय को मिजोरम का मूल निवासी माना जाता है I वे लोग मिजोरम के उत्तर-पूर्वी भाग में बसे हुए हैं I मिजोरम के समीपवर्ती भूभाग में मणिपुर में भी इनकी बसावट है I थडोऊ समुदाय के गाँव घने जंगल और पहाड़ों के बीच स्थित हैं जहाँ भरपूर वर्षा होती है I उस क्षेत्र में सालों भर मौसम सुहाना बना रहता है I इस समुदाय के पास अपनी थडाऊ भाषा है, लेकिन कोई लिपि नहीं है I लिपि के रूप में वे रोमन लिपि का प्रयोग करते हैं I शिक्षित लोग अंग्रेजी और हिंदी भी बोलते हैं I चावल थडोऊ समुदाय का मुख्य भोजन है I येलोग मांसाहारी होते हैं I वे अंडा, मछली, सूअर, बकरी, मुर्गी, भैंस आदि जानवरों के मांस खाते हैं I वे दाल खाते हैं तथा खाना पकाने में कभी– कभी सरसों तेल या चर्बी का उपयोग करते हैं I वे बैगन, आलू, टमाटर, बाँस की कोंपल, हरा चना, केले का तना, जंगली कंद-मूल आदि की सब्जियां खाते हैं I वे फल भी खाते हैं I वे दूध और दुग्ध उत्पाद का बहुत कम उपयोग करते हैं I वे घर में बनी चावल की मदिरा (जू) का नियमित सेवन करते हैं तथा पान, तम्बाकू और सिगरेट भी पीते हैं I मदिरा घर में बनाई जाती है I झूम खेतों में तंबाकू का उत्पादन किया जाता है I अनेक लोग निकोटीन जल भी पीते हैं I थडोऊ समाज नौ गोत्रों में विभक्त है जिनके नाम हैं–सित्तलोह, खुंगसाई, सिंगसुअन, लियनतंग, हाउकिप, कीपगेन, चंगचन, तोंगपम और दोंगल I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here