15.1 C
Delhi
Profile Photo

कुणाल कंठOffline

0 out of 5
0 Ratings
    • तुम

      "तुम" हर नज़्म में तुम ,  हर लफ्ज़ में तुम  मैं तो ठहरा काफिर  पर मुझे निखारती   नायाब फरिश्ता तुम । हर अक्श में तुम , हर ख्वाब में तुम  मैं तो ठहरा बंजर जमी  पर मुझे भिंगाती   शबनमी बूंद तुम  हर सवाल में तुम , हर जवाब में तुम  मैं तो...

      Read More

    Media

    Recent Posts

    तुम