पंजाबी की यादगार कहानियाँ
(चार खंड : साठ कहानियाँ)

सुभाष नीरव जी के संपादन और अनुवाद में ‘पंजाबी की यादगार कहानियाँ’ पुस्तक चार खंडों में भारत पुस्तक भंडार से प्रकाशित हो रही है। जिसके पहले दो खंड(खंड-1 और खंड-2) प्रकाशित हो गये हैं, शेष दो खंड भी शीघ्र ही प्रकाशित होंगे, संभवत: मई 2017 तक। इस पुस्तक में पंजाबी की प्रथम कथा पीढ़ी के प्रसिद्ध कथाकार नानक सिंह(सन 1940 के आसपास) से लेकर पंजाबी की चौथी और वर्तमान कथा पीढ़ी तक के कुल साठ कहानीकारों की एक-एक यादगार कहानी का चयन किया गया है। हर खंड में 15-15 कहानियाँ हैं। पहले खंड के कथाकार हैं – नानक सिंह, ज्ञानी गुरमुख सिंह मुसाफिर, गुरबख्श सिंह प्रीतलड़ी, सुजान सिंह, संत सिंह सेखों, करतार सिंह दुग्गल, देविंदर सत्यार्थी, कुलवंत सिंह विर्क, संतोख सिंह धीर, अमृता प्रीतम, महिन्दर सिंह सरना, जसवंत सिंह विरदी, रामसरूप अणखी, गुरदयाल सिंह और नवतेज सिंह। दूसरे खंड के कहानीकार हैं – लोचन बख़्शी, प्रेम प्रकाश, अजीत कौर, गुलजार सिंह संधू, दलीप कौर टिवाणा, मोहन भंडारी, गुरबचन सिंह भुल्लर, सुखवंत कौर मान, भूपिंदर सिंह, किरपाल कज़ाक, जसबीर भुल्लर, वरियाम सिंह संधू, खालिद हुसैन, रघुबीर ढंढ़ और मोहम्मद मंशा याद।
प्रकाशक: भारत पुस्तक भंडार 
-सुभाष नीरव

यह भी पढ़ें -  बैंकिंग क्षेत्र मे नया क्षितिज : ई-बैंकिंग- डॉ. बिंदिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.