झारखण्ड से सुपरिचित व्यंग्यकार श्री दिलीप तेतरबे की व्यंग्य पर केंद्रित पत्रिका”अनवरत”का लोकार्पण डॉ लालित्य ललित ने डल्हौजी,हिमाचल प्रदेश में किया।इस अवसर पर व्यंग्य समालोचक डॉ रमेश तिवारी ने कहा-इस तरह की पत्रिकाएं निश्चित ही व्यंग्य में एक महत्वपूर्ण पड़ाव है जिसकी आवश्यकता बनी हुई है।अंक में प्रेम जनमेजय,बलेन्दुशेखर तिवारी,लालित्य ललित,रमेश तिवारी,हरीश नवल साथ ही पंकज सुबीर और ज्ञान चतुर्वेदी के लेखन पर दिलीप तेतरबे की विस्फोटक टिप्पणी।अंक पढ़ना न भूले।आज ही संपादक से संपर्क करे-09304453797.