अंक यहाँ पढ़ें- 
पत्रिका के बारे में आपकी राय एवं सुझाव की प्रतीक्षा रहेगी । 
हमारा अगला अंक व्यंग्य विशेषांक आने वाला है, इसके लिए रचनाएँ आमंत्रित हैं । 
पार्टीका के संबंध में अपनी राय कृपया indusanchetana@gmail.com पर अवश्य भेजें ।

यह भी पढ़ें -  तू नहीं समझेगा!!! (लघुकथा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.