संस्था का परिचय एवं कार्य



‘विश्वहिंदीजन’ जनकृति अंतरराष्ट्रीय पत्रिका का हिंदी प्रेमियों को समर्पित अंतरराष्ट्रीय मंच है. इस मंच का कार्य विश्व में हिंदी भाषा के विकास हेतु समर्पित हिंदी सेवियोंविश्व हिंदी संस्थानों इत्यादि के कार्य को सभी हिंदी प्रेमियों तक पहुंचाना है. विश्वहिंदीजन आप सभी के सहयोग से कार्य करने वाला मंच है अतः इसका संचालन आप सभी के द्वारा होगा. 


विश्वहिंदीजन के कार्य- 

  • विश्व में हिंदी भाषा के विकास में कार्यरत विद्वानोंसंस्थाओं इत्यादि के कार्यों का संकलन.
  • हिंदी सामग्री को अनुवाद इत्यादि के माध्यम से विश्वभर में पहुँचाना.
  • विश्व हिंदी संस्थानोंअकादमियों इत्यादि के माध्यम से उत्कृष्ट रचनाओं का प्रकाशन.
  • सूचना प्रौद्योगिक के क्षेत्र में हिंदी भाषा के विकास हेतु कार्य करना
  • हिंदी पत्र-पत्रिकाओंपुस्तकों आदि का संकलन
  • 60 वर्ष से अधिक पुरानी पत्र-पत्रिकाओं, पुस्तकों, लेख इत्यादि का डिजिटल दस्तावेजीकरण
  • विश्व की उकृष्ट रचनाओं का हिंदी अनुवाद
  • विश्व स्तर पर कार्य रहे है हिंदी सेवियोंहिंदी संस्थानों इत्यादि के सहयोग से हिंदी सम्मलेनसंगोष्ठियों एवं चर्चाओं का आयोजन.
  • हिंदी भाषा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए हिंदी सेवियों को सम्मान प्रदान करना
  • हिंदी भाषा के विकास में युवा प्रतिभाओं को अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान करनायुवा लेखकों के कार्यों को प्रोत्साहन देना
  • विश्व के सभी देशों में हिंदी के शिक्षण-प्रशिक्षणपठन-पाठन को प्रारंभ करने  एवं हिंदी भाषा में रचित उत्कृष्ट रचनाओं को पहुंचाने के लिए ‘हिंदी मैत्री’ नाम से समूह का संचालन
  • कला के विभिन्न माध्यमों द्वारा हिंदी का विकास
हिंदी संस्थानों हेतू

  • हिंदी भाषा के विकास में समर्पित हिंदी संस्थानों से हम आग्रह करते हैं कि आप विश्वहिंदीजन से जुडें एवं विश्व के सभी देशों में हिंदी भाषा को पहुंचानेलेखकों को प्रोत्साहित करने एवं हिंदी में रचित उत्कृष्ट रचनाओं को प्रचारित-प्रसारित करने में सहयोग करें.
  • विश्वहिंदीजन हिंदी भाषा के विकास में पूर्णतः समर्पित है. हमें आशा है कि सार्थक कार्य हेतु आपकी तरफ से आर्थिक एवं अन्य सहयोग प्राप्त होगा
हिंदी सेवियोंलेखकों हेतू 

  • आप सभी हिंदी सेवियों का हम विश्वहिन्दीजन में स्वागत है. आप विश्वहिंदीजन में अपनी रचनाएं एवं हिंदी भाषा से संबंधित कार्यों को हमें भेज सकते हैं. हम अपने प्रतिनिधियों द्वारा आपके कार्योंकृतियों को वैश्विक स्तर तक पहुचाएंगे.
  • आपके सहयोग से संपूर्ण विश्व में न केवल हिंदी की उत्कृष्ट सामग्री का प्रचार होगा बल्कि हिंदी भाषा में रचित सामग्री एवं आपके कार्यों से हिंदी भाषा के प्रति अहिंदी भाषी क्षेत्रों में  रुझान बढेगा.
सदस्यता-
  • संस्था की विभिन्न परियोजनाओं से जुड़ने हेतु प्रथमतः संस्था की सदस्यता अनिवार्य है…सदस्यता शुल्क जमा करने पर आप संस्था के आजीवन सदस्य होंगे इसके उपरांत आपसे किसी भी प्रकार की राशि नहीं ली जायेगी. 
  • सदस्यता प्राप्त करने की सम्पूर्ण जानकारी ब्लॉग पर उपलब्ध है.

आर्थिक सहयोग-
  • संस्था वैश्विक स्तर पर हिंदी भाषा के विकास को लेकर प्रतिबद्ध है. यदि आप संस्था की विभिन्न परियोजनाओं हेतु आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. 

इसके अतिरिक्त यदि आपके पास भी कोई सुझाव हो अथवा व्यक्तिगत तौर पर आप सहयोग करना चाहें तो आपका स्वागत है. इस मंच से जुड़ने हेतु आप अपना परिचय हमें vishwahindijan@gmail.com पर मेल करें 



अधिक जानकरी हेतु संपर्क करें.


कुमार गौरव मिश्रा
संस्थापक एवं अध्यक्ष
संपादक- जनकृति अंतरराष्ट्रीय पत्रिका  
8805408656

कविता सिंह चौहान
संस्थापक एवं सचिव
सह-संपादक: जनकृति अंतरराष्ट्रीय पत्रिका 
यह भी पढ़ें -  आजादी के बाद की हिन्दी कविता के स्वर-डॉ. हर्षबाला शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.