34.1 C
Delhi
- Advertisement -spot_img

TAG

hindi

आत्मकथा : हिंदी साहित्य लेखन की गद्य विधा atmkatha

आत्मकथा हिंदी साहित्य लेखन की गद्य विधाओं में से एक है। आत्मकथा यह व्यक्ति के द्वारा अनुभव किए गए जीवन के सत्य तथा यथार्थ का चित्रण है।

प्रत्यय अर्थ, परिभाषा, भेद, उदाहरण pratyay

जो शब्दांश, शब्दों के अंत में जुड़कर अर्थ में परिवर्तन लाये, प्रत्यय pratyay कहलाते है।मूलतः प्रत्यय के दो प्रकार है -कृत् प्रत्यय (कृदन्त) (Agentive) तद्धित प्रत्यय (Nominal)

विशेषण, विशेष्य और प्रविशेषण visheshan

जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम शब्द की विशेषता बताते है उन्हें विशेषण Adjective कहते है। जो शब्द विशेषण की विशेषता बताते है, वे प्रविशेषण कहलाते है।

आदिकाल पर आधारित पुस्तकें

यहाँ पर आप आदिकाल पर आधारित आलोचनात्मक पुस्तकें पढ़ सकते हैं।

‘अवगत’ अवार्ड 2021

अकादमिक/शोध/साहित्य के क्षेत्र में यदि आपने कार्य किया है, अर्थात उक्त संदर्भित क्षेत्र में आपके कोई भी प्रकाशन हुए हैं, तब आप इस ‘‘अवगत‘‘ अवार्ड 2021 हेतु पंजीयन कर सकते हैं।

आलोचना की पुस्तकें

आप यहाँ आलोचना की पुस्तकें निशुल्क पढ़ सकते हैं।

विभिन्न देशों की भाषाओं के शब्दकोश

यहाँ आप भारतीय भाषाओं के साथ-साथ विश्व के कई देशों की भाषाओं के कोश प्राप्त कर सकते हैं। कोश को डाउनलोड करने हेतु प्रत्येक कोश के नाम पर क्लिक करें

कविता- नींद

कविता- नींद - डॉ. ऋचा त्रिवेदी

स्त्रियों पर कविताएँ: सुशांत सुप्रिय

कविता- स्त्रियों पर कविताएँ: सुशांत सुप्रिय

कहानी- इंडियन काफ़्का: सुशांत सुप्रिय

एक मुरझाई मुस्कान चेहरे पर आ कर सट जाती है । चेहरे की स्लेट से उसे पोंछ कर मैं खिड़की से बाहर झाँकता हूँ । एक और सिमसिमी शाम ढल चुकी है । रोशनी एक अंतिम कराह के साथ बुझ चुकी है । एक और पसीजी रात मटमैले आसमान की छत से उतर कर मेरे सलेटी कमरे में घुसपैठ कर चुकी है । उसी कमरे में जहाँ मैं हूँ , दीवारें हैं , छत है , सीलन है , घुटन है , सन्नाटा है और मेरा अंतहीन अकेलापन है । हाँ , अकेलापन । मेरा एकमात्र शत्रु-मित्र ।

Latest news

- Advertisement -spot_img