26.1 C
Delhi
- Advertisement -spot_img

CATEGORY

साहित्य

हरियाणवी लोक साहित्य में अंबेडकरवाद के प्रवर्तक महाशय छज्जूलाल सिलाणा- दीपक मेवाती

छज्जूलाल ने अपना संपूर्ण जीवन समाज की बुराइयों पर लिखते हुए आमजन के बीच बदलाव की बात करते हुए एवं अंबेडकरवाद का प्रचार-प्रसार करते हुए व्यतीत किया।

अनहक-राजासिंह

अनहक -राजासिंह आजकल मौसम काफी गीला, चिपचिपा और बासी हो रहा है.हर समय कुछ घुटा घुटा सा,हलके अँधेरे में घिरा कुछ रहस्मयी सा.कल रात देर तक...

साक्षात्कार -भोला नाथ सिंह

कहानी  साक्षात्कार भोला नाथ सिंह फुटलाही, पत्रालय- बिजुलिया चास, बोकारो- 827013 झारखण्ड मोबाइल नंबर -09304413016.           स्कूल...

नारी शक्ति

तुम जननी हो, तुम शक्ति हो, आश्रिता ना समझना तुम नारी हो, तुम सबला हो, अबला ना समझना   पुरुष और नारी के भेद भाव को न...

जैक लंडन की कहानी ” द चिनागो ” का  अंग्रेज़ी से हिंदी में ” वह चिनागो ” शीर्षक से अनुवाद

( जैक लंडन की कहानी " द चिनागो " का  अंग्रेज़ी से हिंदी में " वह चिनागो " शीर्षक से अनुवाद ) वह चिनागो मूल लेखक : जैक लंडन                                               ...

रूसी कहानी – शत्रु- अन्तोन चेखव

( अनूदित रूसी कहानी )                                   शत्रु     ...

इतालवी कहानी-जिगरी यार-लुइगी पिरांदेलो

(इतालवी कहानी) जिगरी यार                                                     -मूल लेखक : लुइगी पिरांदेलो                                                           अनुवाद : सुशांत सुप्रिय              गिगी मियर ने उस सुबह एक पुराना लबादा पहन रखा था (...

आयरिश कहानी-छिपा हुआ निशानची

                        ( अनूदित आयरिश कहानी )               ...

लातिनी अमेरिकी कहानी -एक पीला फूल

    अनूदित लातिनी अमेरिकी कहानी                                     ...

इतालवी कहानी-अनावृत उरोज

अनूदित इतालवी कहानी                                            ...

Latest news

- Advertisement -spot_img