34.1 C
Delhi
- Advertisement -spot_img

CATEGORY

हिंदी साहित्य: अध्ययन सामग्री

हिंदी विभाग पाठ्यक्रम

यहाँ आप देश-विदेश के विभिन्न संस्थानों के हिंदी विभाग के पाठ्यक्रम को प्राप्त कर सकते हैं।

आदिकाल पर आधारित पुस्तकें

यहाँ पर आप आदिकाल पर आधारित आलोचनात्मक पुस्तकें पढ़ सकते हैं।

हिंदी साहित्य का इतिहास, भाषा इतिहास की पुस्तकें

यहाँ हिंदी साहित्य का इतिहास, भाषा इतिहास से संबधित पुस्तकों की सूची है, जिसे आप ऑनलाइन पढ़ सकते हैं।

एनटीए यूजीसी नेट हिंदी साहित्य का पाठ्यक्रम एवं उनसे संबधित सामग्री

यहाँ एनटीए द्वारा आयोजित राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) में हिंदी साहित्य विषय का सम्पूर्ण पाठ्यक्रम, उनमें शामिल रचनाएँ एवं संबधित महत्वपूर्ण सामग्री एक जगह प्राप्त कर सकते हैं।

अंधेर नगरी- भारतेंदु हरिश्चंद्र

1881 में भारतेंदु हरिश्चंद्र का ताजा नाटक 'अंधेर नगरी' काशी की जानी-मानी नाटक संस्था नेशनल थियेटर (जिसके संरक्षक खुद भारतेंदु थे) की रंगमंडली द्वारा काशी के दशाश्वमेध घाट पर खेला गया।

कफ़न- प्रेमचंद

‘कैसा बुरा रिवाज है कि जिसे जीते जी तन ढाँकने को चीथड़ा भी न मिले, उसे मरने पर नया कफ़न चाहिए।’

मुंबई विश्वविद्यालय, हिंदी विभाग पाठ्यक्रम

आप यहाँ मुंबई विश्वविद्यालय, हिंदी विभाग के एम. ए. पाठ्यक्रम में शामिल रचनाओं एवं संदर्भ ग्रन्थों को पढ़ सकते हैं।

विभिन्न कविता आंदोलनों की अनिवार्यता और अवधारणात्मकता-ऋषिकेश सिंह

आधुनिक काल में भारतेंदु, द्विवेद्वी, छायावाद, प्रगतिवाद, प्रयोगवाद, नई कविता, अकविता, तथा समकालीन कविता जैसे काव्यान्दोलनों का उभार हुआ जिसे स्वतंत्रता पूर्व और पश्यात दो भागों में भी बाँट सकते हैं। इन काव्यान्दोलनों के उद्भव में सबसे प्रमुख भूमिका नवजागरण एवं आधुनिकता के विचारधारा की उत्पत्ति का है।

हिंदी विभाग, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, एम.ए. (हिंदी) पाठ्यक्रम

हिंदी विभाग, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, एम.ए. (हिंदी) पाठ्यक्रम से संबधित रचनाओं एवं सहायक पुस्तकों का संकलन

हिंदी विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय

हिंदी विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय एम.ए. हिंदी पाठ्यक्रम

Latest news

- Advertisement -spot_img