हे पिता ! तुम्हारी बहुत याद आती है … (कविता)

जब जब यह दुनिया , पितृ दिवस मनाती है। जब जब कोई संतान , अपने पिता का सानिध्य पाती है …

 720 total views,  67 views today

2020-10-06-0e9a9945

नजीबाबाद के झरोखे से नित्यानंद मैठाणी- देवराज

आकाशवाणी भवन के निर्माण का ठेका नजीबाबाद के नामधारी रईस, सुरेशचंद्र जैन को मिला था और अपनी उन्मुक्त हँसी तथा आतिथ्य के लिए विख्यात, जगतनारायण मुष्टिक समस्त निर्माण गतिविधियों के प्रभारी थे। अनुशासन-पर्व (?) का दबाव रहा हो या कोई और कारण, इन लोगों ने बहुत कम समय में ही कोतवाली मार्ग पर मुख्य प्रसारण-भवन (रिकार्डिंग स्टूडियो तथा प्रशासनिक एकक) और कोटद्वार मार्ग पर समीपुर गाँव के निकट तकनीकी (प्रसारण-टावर) केंद्र बना कर खड़ा कर दिया। यही नित्यानंद मैठाणी के नजीबाबाद आने का समय है।

 11 total views,  6 views today