मीराबाई की भक्ति और नारी शक्ति आज के सन्दर्भ में समझनी चाहिये । मीरा का काव्य लोकजीवन में रचा बसा है ।

Sending
User Review
( votes)
यह भी पढ़ें -  21 वी शताब्दी में हिंदी साहित्य शिक्षण: मनीष खारी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.